चरित्र क्या होता है अपना अच्छा चरित्र कैसे बनाये

आप यहाँ पर हर रोज कुछ नया सीखोगे

चरित्र क्या होता है अपना अच्छा चरित्र कैसे बनाये

2 comments :
मुन्सी प्रेमचंद जी कहते है की जिस इन्सान में दया नहीं धरम नहीं निज  भासा से प्रेम नहीं आत्म बल नहीं तो उसमे चरित्र भी नहीं है और बिना चरित्र का आदमी कोई आदमी नहीं होता है 
चरित्र का इन्सान की जिन्दगी में बहुत महत्व होता है आप चाहे गरीब हो अमीर हो सफल हो या असफल हो दुःख में या सुख में हो रोगी हो या निरोगी हो इन सभी में कही न कही आपके चरित्र का योगदान जरुर होगा 
जिस इन्सान में आत्म नियंत्रण, विश्वनियता, कार्य और वचन में मजबूती, कर्तव्य निष्ठता, आत्मा की शुध्ती, जिम्मेदारी की भावना, यह सब गुण होते है वह चरित्र वान व्यक्ति होता है कोई भी इन्सान अपने चरित्र को नहीं छुपा सकता क्योकि उसका काम करने का तरीका वैसा ही होगा जैसा उसका चरित्र है 
चरित्र किसी भी इन्सान में परम्परागत लक्षण नहीं होते है यह अपने आप स्वत: अध्यन से निर्मित होते है  
चरित्र वह शक्ति होती है जो अभेद दीवारों से भी रास्ता बनाने की ताकत रखती है 
मनुष्य के चरित्र को पहचानने के लिए उसके साथ बैठने उठने की जरुरत नहीं है उसकी बातो से भी उसके चरित्र को पहचाना जा सकता है 
अब सीखते है अपना अच्छा चरित्र कैसे बनाये 
अपना अच्छा चरित्र का निर्माण कैसे करे How to build your good character
अपने अच्छे चरित्र के निर्माण के लिए निचे दिए गये बिन्दुओ का ध्यान से अध्यन करे 
1.विचारो में सुधता रखे 
महात्मा गाँधी जी बोलते थे की जो इन्सान चरित्र character के बजाय महानता को कपड़ो से आंकते है वह सर्वथा मुर्ख होते है !!! क्योकि महान इन्सान चरित्र character से बनता है ना की कपड़ो से और चरित्र बनता है अच्छे विचारो idea से आप के  विचार अच्छे है तो आपका चरित्र character भी अच्छा है इसलिए अपना अच्छा चरित्र character बनाने के लिए हमेशा शुद्ध विचार idea  रखे 
आप यहाँ से यह भी पढना ना भूले 
1.लक्ष्य पाने के लिए खुद को प्रोत्साहित कैसे करे 
2.जानिए हमारा दिमाग कैसे काम करता है 
3.सफलता के लिए पागलपन बहुत जरुरी है 
4.अकल बादाम खाने से नहीं ठोकर खाने से आती है 
5.आखिर सफलता का रहस्य क्या है  
6.मेरी जिन्दगी में लक्ष्य क्यों जरुरी है 
7.अपने कोशल की पहचान कैसे करे 
2.अच्छे मित्र बनाये 
यह कहावत बहुत पुराना है ...... जैसा आपका मित्र वैसा आपका चरित्र Your character like your friend  लेकिन सही भी है क्योकि इन्सान अधिकतर वही काम करता है जो पहले कही देख लेता है अब आप देखोगे वही जैसा आपके मित्र करते है अगर आपके मित्र अच्छे है तो आप भी अच्छे है इसलिए हमेशा अच्छे मित्र बनाये ताकि आपका अच्छा चरित्र बन सके 
3.हमेशा अच्छाई को देखे बुराई को नहीं देखे 
हमेशा बुराई को देखने वाला इन्सान उस मक्खी की तरह होता है जो इतने खूब सूरत शरीर को छोड़ कर एक घाव पर जाकर बैठता है हमें किसी इन्सान में बुराई देखने का कोई अधिकार नहीं है हम सिर्फ उस इन्सान में अच्छाई देख सकते है आचार्य चाणक्य हमेशा एक बोलते है की अगर चरित्र की शिक्षा एक घटिया इन्सान से भी मिले तो ले लेनी चाहिए 
4.धार्मिक स्थानों पर आवागमन रखे 
धार्मिक स्थान religious place वह होता है जहा पर हमेशा मानव जीवन के मूल्य को समजा जाता है यहाँ पर धार्मिक स्थान से मतलब किसी साधू संत की कुटिया से नहीं है धार्मिक स्थान से मतलब है जहा जाने से स्वत: ही मानव जीवन के मूल्य का पता लग जाये जहा पर मानव सम्मान की बात की जाये 
अगर आप एसी जगह पर जाते हो तो आपका चरित्र अच्छा बनेगा 
5.सामाजिक कार्यो में योगदान दे 
जो इन्सान अपनी समाज का नहीं हो सकता वह किसी का भी नहीं हो सकता A person who cannot belong to his society cannot belong to anyone. आप जितना काम अपनी मानव समाज के लिए करोगे उतना ही आपका चरित्र अच्छा होगा मानव समाज के लिए काम करने वाला इन्सान कभी गलत हो ही नहीं सकता 
6.देश हित की भावना रखे 
इस दुनिया में कुछ ही लोग ऐसे होंगे जिनकी रगों में वतन के नाम का रक्त नहीं बहता हो और कुछ ही लोग ऐसे होंगे जिनकी सांसो पर वतन का अधिकार ना हो ऐसे लोग हमेशा चरित्र हीन होते है 
आपकी हर एक साँस पर वतन का अधिकार है आपकी हर एक रक्त की बूंद पर वतन का अधिकार है आप हमेशा देश हित में भावना रखे 
7.धार्मिक ग्रन्थ पढना ना भूले 
धार्मिक ग्रन्थ का अध्यन करने से भी मानव का चरित्र अच्छा होता है क्योकि धार्मिक ग्रन्थ हमेशा मानव जीवन के मूल्य को दर्शाते है इसलिए आप हमेशा धार्मिक ग्रंथो का अध्यन करते रहे  8.आलस्य से दूर रहे
आलस्य ही इन्सान के शरीर का सबसे बड़ा सत्रु होता है और चरित्र ही इन्सान का सबसे बड़ा साथी होता है अपने साथी से प्रेम रखने के लिए हमेशा अपने सत्रु को दूर रखे क्योकि जिस तरीके से मिटटी का बर्तन टूटकर चकना चूर हो जाता है उसके बाद उसकी कोई कीमत नहीं होती है उसी प्रकार मानव जीवन में से चरित्र का पतन हो जाने के बाद मानव जीवन का कोई मूल्य नहीं होता है  
9.अपनी जिम्मेदारियों को समजे 
जिस दिन आपको आपकी माँ नहीं आपको आपकी जिम्मेदारिय जगाने लग जाये उस दिन समजना की आप अपना घर चलाने लायक बन जाओगे अपनी जिम्मेदारियों को समजने वाला व्यक्ति कभी भी चरित्र हीन नहीं हो सकता 
10.अपना खुद का (-) point जानने की कोशिश करे 
अपनी जिन्दगी का (-) माइनस point जानना ही जिन्दगी का सबसे बड़ा (+) प्लस point है आप हमेशा अपनी गलतियों को पहचाने और अच्छे चरित्र का निर्माण करे 
11.उन बातो से दूर रहे जिनकी आपको आवश्यकता नहीं है
हमेशा आवश्यकता से अधिक चीज नुकसान दायक होती है चाहे वो आवश्यकता से अधिक खाना खाना आवश्यकता से अधिक सोना आवश्यकता से अधिक भूखा रहना हो आप हमेशा उन चीजो से दूर रहे जिनकी आपको आवश्यकता नहीं है  
12.दूसरे के अहसान को समजे 
अगर जिन्दगी में कभी आप पर किसी ने एहसान किया है तो आपका फर्ज बनता है उसके एहसान को समजने का आप उसके एहसान को समजे और अच्छे चरित्र का बखान करे 
13.हार की जिम्मेदारी खुद ले और जीत का श्रे अपने साथियों को दे 
हार की जिम्मेदारी खुद ले और जीतने का श्रे अपने साथियों को दे ऐसे इन्सान इस दुनिया में कम ही पाए जाते है अगर कोई ऐसा है तो वह बहुत ही चरित्र वान व्यक्ति है इसका एक जीवित उदाहरन बताता हु आपको.....
भारत के सबसे सफल cricket कप्तान mahendra singh dhoni जो हमेशा हार की जिम्मेदारी खुद लेले ते है और जीत का श्रे हमेशा अपने साथियों को देते है इसलिए इनकी छबी आजा पूरा विश्व जानता है 
14.कम बोले 
चरित्र की पहचान हमेशा अच्छे कपड़ो से नहीं होती है आपकी बोली से भी पता लगाया जा सकता है की आप चरित्र वान व्यक्ति हो या चरित्र हीन व्यक्ति हो आप हमेशा कम बोले 
15.जीवन में मानवता का महत्व समजे 
आप अगर मानवता का महत्व समज सकते हो तो आप मानवता को महत्व दे भी सकते हो आप हमेशा नर सेवा और नारायण सेवा की भावना का प्रचार प्रसार करे यही आपका चरित्र है 
आप यहाँ से यह भी पढना ना भूले 
1.15 ways to make positive thinking 
2.15 good habit in student 
3.the best 5 good habit of student 
4.10 qualities of a good student 
5.100 motivation status in hindi with image 
6.power of system 
7.words have power 
8.think out side of the box 
9.abcd वर्णमाला के हर एक अक्षर में छुपी है असली सफलता 
10.personality को develop कैसे करे 
11.management सीखने का आसान तरीका 
12.शेरो की दोस्ती शेरो के साथ जानिए कैसे 
13.जो चाहोगे वही पाओगे जानिए कैसे 
14.मोहम्मद रफ़ी सफलता की कहानी 
15.आपकी माँ आपसे क्या उम्मीद करती है जानिए 
16.जीवन भी एक गणित है इसे सुलजा सकते है 
17.कोई भी काम खानदानी नहीं होता अपने आप चुनना पड़ता है जानिए कैसे 
18.अपने काम को किसी दुसरे के काम से बड़ा समजने के नुकसान 
दोस्तों यह पोस्ट चरित्र क्या होता है अपना अच्छा चरित्र कैसे बनाये बहुत महनत से लिखी गयी है और में उम्मीद करता हु की आप को अच्छी समज भी आई है    
इस पोस्ट को अपने दोस्तों को जरुर share करे 
धन्यवाद जी 

2 comments :