अकल बादाम खाने से नहीं ठोकर खाने से आती है

आप यहाँ पर हर रोज कुछ नया सीखोगे

अकल बादाम खाने से नहीं ठोकर खाने से आती है

2 comments :
एक बार किसी बेवकूफ से सुना था की लडकियों में अकल नहीं होती है ! अरे जनाब लडकियों में अकल तो होती है लेकिन छुप जाती है और time आने पर दिखा भी देती है हम भी जब बचपन में चंदा मामा को देखकर खुश होते थे ना लेकिन आज जब समज आई तो उसी में दाग खोजने लगे ऐसा  क्यों ! क्योकि हमें समज जब तक नहीं आती जब तक हम ठोकर नहीं खा लेते है इसलिए कहा जाता है की अकल बादाम खाने से नहीं ठोकर खाने से आती है 
अकल बादाम खाने से नहीं ठोकर खाने से आती है 
एक बार एक राज्य में एक राजा राज्य करते थे राजा बहुत शक्ति शाली था लेकिन वहा की प्रजा सिर्फ एक बात से दुखी थी की उनके पास कोई रोजगार के अवसर नहीं थे वहा के लोग सभी बेरोजगार थे 
पहले जो रोजगार के अवसर थे वो किसी दुसरे राजा के आक्रमण करने से छिन गये ! प्रजा भूखी मरने लगी खाने को कुछ बचा नहीं धीरे धीरे प्रजा राजा के पास जाने लगी और रोजगार के लिए गुहार लगाने लगी 
लेकिन राजा कहा सुनने वाले थे !
तो वही खड़े एक मंत्री ने राजा को सुजाव दिया और बोले हे राजन जिस तरीके से हमारी प्रजा दिन दोगुनी और रात चोगुनी ख़त्म होती जा रही है इस तरीके से तो हमारा पूरा राज्य ही खाली हो जायेगा और हम पर कोई भी दुश्मन कभी भी मोका देख कर आक्रमण कर सकता है हम एक काम करते है की जितने भी हमारे पास हीरा मोती धन दोलत है उसको हम कोई रोजगार स्थापित करने में खर्च कर देते है उससे सभी को रोजगार मिल जायेगा !
आप यहाँ से यह भी पढना ना भूले 
1.word have a power शब्दों की ताकत 
2.अपने दायरे से बहार सोचो अपने आप सफल बन जाओगे 
3.कोई भी काम खानदानी नहीं होता अपने आप चुनना पड़ता है जानिए 
4.10 quality of a good student 
5.power of system  
और हम जितने भी पैसा धन दोलत हीरा मोती खर्च करेंगे हम वापिश उसी रोजगार से कमा लेंगे राजा को मंत्री का यह सुजाव समज तो आया लेकिन मानने वाले कहा थे !
प्रजा निराश हुयी और धीरे धीरे राजदरबार में से निकल कर अपने घर की ओर प्रस्थान करने लगी 
कुछ दिन बाद............
राजा का मन अकेले ही जंगल में घुमने को करता है और बिना सोच विचार किये राजा जंगल में घुमने के लिए निकल जाता है राजा को चलते चलते काफी दिन बीते राजा को नहीं पता की पीछे से क्या होगा और क्या नहीं होगा 
राजा घूमते घूमते एक एसी जगह पर पहुच गये जहा पर पिने के लिए भी पानी नहीं था राजा को पानी की बहुत प्यास लगने लगी 
राजा जंगल में चारो तरफ देखता है लेकिन उसको कही पर भी पानी दिखाई नहीं दिया और राजा घायल होकर जमीन पर गिर गया कुछ देर बाद होस आया तभी राजा को एक झोपडी दिखाई दी राजा सोचने लगे अगर वहा पर झोपडी बनी हुयी है तो सायद पानी भी जरुर होगा चल कर  देखना चाहिए राजा धीरे धीरे चलते हुए उस झोपडी के पास पंहुचा और जैसे ही राजा उस झोपडी के पास पहुच कर चारो तरफ देखता है लेकिन राजा को कोई भी पानी का साधन दिखाई नहीं दिया राजा जमीन पर लेट गये ! राजा जमीन पर लेट ही रहे थे इतने में ही राजा की नजर झोपडी में लगे हेंडपंप पर गई और राजा ने जैसे ही उस हैण्ड पंप को देखा राजा के जीव में जीव आने लगा राजा खड़ा होकर झोपडी में अंदर प्रवेश करता है और उस हेंडपंप को हाथ लगाता है और राजा की फिर से आँखे मिचने लगी क्योकि हेंडपंप बिल्कुल सूखा पड़ा हुआ था राजा ने उस हेंडपंप को खूब चलाया लेकिन पानी कहा आने वाला था और राजा उसी झोपडी में गिर गया राजा ऊपर मुह करके पड़ा हुआ था तभी राजा के नजर पानी से भरी बोतल लटक रही थी उस पर गयी और राजा खुश हुआ !
राजा पानी की बोतल खोल कर पिने वाले ही थे तभी उनकी नजर उस बोतल पर लगे कागज पर गयी जिसमे लिखा था की प्लीज इस पानी को पिए नहीं इसको हेंडपंप चलाने में उपयोग करे 
इस पानी को आप हेंड पंप में डाले फिर हेंडपंप से खूब पानी आएगा उसको आप पी सकते हो और फिर वापिश पानी की बोतल को भरकर लटका देना ताकि कोई आएगा वह भी आपकी तरह पानी डाल कर पी सके राजा को बात समज आ चुकी थी लेकिन एक भय था की अगर में पानी को हेंड पंप में डाल देता हु लेकिन पानी नहीं आया तो लेकिन राजा एक बार अपनी अंतर आत्मा से सोचता है विस्वास करता है और उस बोतल के पानी को हेंडपंप में डाल देता है फिर हेंड पंप को चला कर देखा पानी बहुत आ रहा था राजा ने पानी पिया और उस बोतल को वापिश भर कर लटका दिया और राजा खुश होकर चल दिया 
आप यहाँ से यह भी पढना ना भूले 
1.management शीखने का आसान तरीका 
2.आखिर सफलता का रहस्य क्या है जानिए 
3.15 good habit in a student 
4.the 5 motivation stories in hindi 
5.जो चाहोगे वही पाओगे जानिए कैसे 
कुछ दुरी तय की राजा वापिश उस झोपडी में पंहुचा और उस बोतल पर लिख कर आया आप विस्वास करे जरुर पानी आएगा 
राजा वहा से चला ही था की उनको उनकी गलती पर बहुत पछताना हुआ वह सोचने लगे अगर मैंने मंत्री के कहने पर कुछ पैसा लगा कर रोजगार खोल दिया होता तो सायद में उसी रोजगार से सारा पैसा कमा लेता 
राजा तुरंत अपने राज्य में आया और सभी को बुला कर रोजगार की घोसना करता है और बोला की मैंने जो भी शीखा है वह सब ठोकर खाने के बाद ही शीखा है मै आपको आज से रोजगार प्रदान करूँगा 
moral अगर आपके पास थोडा सा भी कुछ है तो उसको भी आप बड़ा कर सकते है तथा अक्ल हमेसा ठोकर खाने से आती है ना की बादाम खाने से 
आप यहाँ से यह भी पढना ना भूले 
1.20 motivation thought जो आपको जानना बहुत जरुरी है 
2.मोहम्मद रफ़ी सफलता की कहानी 
3.the 5 best good habit in a student 
4.आपकी माँ आपसे क्या उम्मीद करती है जानिए 
5.जीवन भी एक गणित है इसे भी सुलजा सकते है 
जिन्दगी के वो काम जिनसे आप अभी तक भी अनजान हो जान लिया तो हो सकते हो success 
1.15 ways make positive thinking 
2.difference between job and business 
3.ABCD वर्णमाला के 26 अक्षर में छुपी है सफलता जानिए कैसे 
4.personality को develop कैसे करे 
5.100 motivation status in hindi with image 

2 comments :