constitution making

डॉ.अम्बेडकर सविधान निर्माण संघर्ष constitution making Struggle

Constitution making Struggle

आजाद भारत की पहली सरकार (कांगेस ) जब पहली बार सत्ता में आई तो उन्होंने बाबा साहब को कानून और न्याय मंत्री के रूप में देश की सेवा करने का मोका दिया जिसे बाबा साहब ने स्वीकार किया ! 29 अगस्त 1947 को अम्बेडकर को स्वतंत्र भारत के नए संविधान के निर्माण constitution making के लिए संविधान की प्रारूप समिति के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था।

इस काम में अंबेडकर के प्रारंभिक बौद्ध संघ के रीति-रिवाजों और अन्य बौद्ध ग्रंथों का अध्ययन भी उपयोग में आया।

बाबा साहब को बुद्धिमान संवैधानिक विशेषज्ञ का दर्जा प्राप्त था तथा बाद में इन्हें भारत के संविधान का पिता भी कहा गया

Granville Austin ने अंबेडकर द्वारा तैयार भारतीय संविधान को ‘पहला और सबसे महत्वपूर्ण सामाजिक दस्तावेज’ बताया

अंबेडकर द्वारा तैयार संविधान का पाठ व्यक्तिगत नागरिकों के लिए नागरिक स्वतंत्रता की एक विस्तृत श्रृंखला के लिए संवैधानिक गारंटी और सुरक्षा प्रदान करता है जिसमें धर्म की स्वतंत्रता अस्पृश्यता का उन्मूलन और सभी प्रकार के भेदभाव का उल्लंघन शामिल है।

अंबेडकर ने महिलाओं के लिए व्यापक आर्थिक और सामाजिक अधिकारों और अनुसूचित जाति (SC) और अनुसूचित जनजाति (ST) और अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC) के सदस्यों के लिए सिविल सेवाओं स्कूलों और कॉलेजों में नौकरियों के आरक्षण के प्रावधान का तर्क दिया। विधानसभा ने समर्थन शुरू करने के लिए जीत हासिल की जो सकारात्मक कार्रवाई थी।

संविधान को 26 नवंबर 1949 को संविधान सभा द्वारा अपनाया गया था।

संविधान को पूरा करने के बाद क्या बोले डॉ आंबेडकर

मुझे लगता है कि संविधान व्यावहारिक है यह लचीला है लेकिन साथ ही यह इतना मजबूत है कि यह देश को शांति और युद्ध दोनों के समय रख सकता है। वास्तव में मैं कह सकता हूं कि अगर कुछ भी गलत हुआ तो ऐसा नहीं होगा क्योंकि हमारा संविधान खराब था लेकिन इसका इस्तेमाल करने वाला व्यक्ति अपर्याप्त था।

आप यहाँ से यह भी पढना ना भूले

डॉ.अम्बेडकर जीवन परिचय

डॉ.अम्बेडकर प्रारंभिक जीवन

जानिए डॉ.अम्बेडकर की पूरी शिक्षा और डिग्री

जानिए डॉ.अम्बेडकर का छुआछूत के विरुद्ध संघर्ष

पूना पैक्ट मेरी जिन्दगी की सबसे बड़ी गलती

डॉ आंबेडकर के वो अंतिम पल जब उनकी साँस थमने वाली थी

Final Word

जय भीम साथियों ! दोस्तों इस article में हमने डॉ.अम्बेडकर सविधान निर्माण संघर्ष constitution making को याद किया ! उम्मीद करता हु हम सब को बहुत अच्छा भी लगा !दोस्तों अगर आप मुझे कुछ सुझाव देना चाहते है ! तो आपका comment box इंतजार कर रहा है अधिक जानकारी के लिए visit करे www.indiahindinews,in

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: