पापा क्या आपके पास 50 रुपए है ? Hindi story of daughter

Hindi story of daughter and Father

पाप क्या आपके पास 50 रुपए है ? Hindi story of daughter

यह कहानी काल्पनिक नहीं है ! Hindi story of daughter and Father कहानी में एक बिन माँ की बेटी और व्यस्त पिता की हकीकत आपके सामने अपनी भासा में रख रहा हु ! एक बेटी के पहले से ही सर से माँ का साया उठ चूका था ! और अब पिता जी भी उनको time नहीं देता ! दिल दहला देनी वाली यह कहानी किसी फ़िल्मी कहानी से कम नहीं है ! please ध्यान से पढना !

कहानी start होती है अब

एक लड़की थी जिसकी माँ ने बचपन में ही संसार छोड़ दिया था ! जब बेटी महज 10 साल की थी उस वक्त माँ का साया उठ चूका था ! अभी घर में सिर्फ पिता और उनकी 10 साल की बेटी रहने लगे ! घर काफी बड़ा था ! लेकिन बड़ा घर बेटी का अकेलापन दूर नहीं कर सका और पिता कभी भी बेटी को माँ का प्यार नहीं दे सका !

पिता जी प्राइवेट नोकरी में इतने व्यस्त थे की कभी भी अपनी बेटी को time नहीं दे पाया ! यह सुबह 10 बजे office चले जाते और रात को लेट तक आना इनकी आदत बन चुकी थी !

इधर बेटी को सुबह 7 बजे school जाना होता है ! तो वो अपने पिता जी के जागने से पहले ही school चली जाती !

और देर रात जब तक पिताजी office से आते तब तक बेटी अपने बेडरूम में जाकर सो जाती ! और वो खुद आकर अपने बेडरूम में सो जाते थे !

बेटी की जिन्दगी में सबसे बड़ा दुःख था की माँ का साया बचपन में उठ गया और पिता जी time नहीं दे पाते !

एक चाहत होती है जनाब अपनों के साथ जिन्दगी जीने की : वरना पता तो हमे भी है की उपर अकेले ही जाना है !

यहाँ से कहानी में नया मोड़ आया

एक दिन की बात है बेटी ने अपने पापा से पूछा पापा आप एक घंटे में कितने रुपय कमाते हो पापा को यह सुनकर बड़ा गुस्सा आया और बोले बेटा आज तक मेरे से किसी ने हिसाब नहीं माँगा आप क्यों ऐसी बात पूछ रही हो !

बेटी ने जिद्द की नहीं पापा मुझे आज यह जानना ही है की आप एक घंटे में कितने रुपय कमाते हो !

बेटी की जिद्द के सामने पापा को बताना पड़ा की बेटी में एक घंटे में 100 रुपय कमाता हु ! फिर बेटी ने कहा पापा मुझे 50 रुपय चाहिए !

पापा को गुस्सा आया और बोले आप को अभी कल ही तो 50 रुपय दिए आज फिर क्यों !

लेकिन बेटी की जिद्द के पीछे बहुत बड़ा रहस्य था और पापा ने 50 रुपय भी दिए !

बेटी 50 रुपय लेकर अपने बेडरूम में गई और 50 रुपय अपने बेग से निकाले टोटल 100 रुपय लेकर वापिस अपने पापा के पास आती है ! और पापा को एक ऐसी बात बोली जो आप भी सुनकर आपका दिल भी गद गद हो जायेगा !

पापा को बोली पापा आप एक घंटे में 100 रुपय कमाते हो ना यह लो 100 रुपय आप कल एक घंटे जल्दी आजाना मुझे आपके साथ खाना खाना है ! प्लीज पापा में आपका एक घंटा खरीदना चाहती हु !

आज पिताजी को अपने परिवार को time नहीं देने का दुःख हुआ !

आप यहाँ से यह भी पढना ना भूले

सफलता के लिए बहरापन

निरंतर अभ्यास ही सफलता की कुंजी है

सकारात्मक सोच का परिणाम

बड़ी दुआओं से पाया है बेटा तुझे

खुद से हारा नहीं ये दुनिया क्या हरायेगी

Final word

दोस्तों उम्मीद करता हु यह कहानी आपको बहुत पसंद आई आप कोई सुझाव मुझे देना चाहते हो तो प्लीज comment बॉक्स आपका इंतजार कर कर रहा है ! जरुर करे !

Hindi story of daughter and Father में बस इतना ही | धन्यवाद |

Mekhraj2001

Mekhraj Bairwa is a very good motivational speaker and writer blogger you tuber skill development india hindi news today news aaj ki taja khabar news hindi me breaking news digital services personalty development today history hindi kahani new kahaniya

Leave a Reply