Hindi story of samudra or hawa

समुद्र और हवा की बात life Hindi story of samudra or hawa

life changing Hindi story of samudra or hawa

समुद्र और हवा की बात पढोगे तो जीवन बदल जायेगा life changing Hindi story of samudra or hawa

यह कहानी है समुद्र और हवा के बीच बातचीत की ! यह कहानी 6 साल के बच्चे से लेकर 80 साल का बुजुर्ग आदमी भी की जिन्दगी में बदलाव ला सकती है !

एक समय की बात है जब समुद्र के किनारे एक बच्चा बड़े जोर जोर से रो रहा था चीख रहा था ! और बोल रहा था की यह समुद्र चोर है ! इसने मेरी चप्पल चुराई है ! यह मेरी चप्पल बहा कर ले गया !

थोड़ी पास ही एक बुजर्ग महिला ने रो रो कर बुरा हाल कर रखा था ! और बोल रही थी इस समुद्र ने मेरी बेटी को निगल लिया है ! यह हत्यारा है मेरी गुडिया को पानी में बहा कर ले गया !

इधर एक मछुआरा ने तडप तडप कर बुरा हाल कर लिया बोल रहा है यह समुद्र कितना निर्दयी है मेरे पास एक ही जहाज था ! वो भी यह अपनी तेज तर्रार पानी की लहरों के साथ बहा ले गया !

पानी के साथ हवा की बात चीत

इन सब की दर्द भरी कहानी सुनकर हवा को बुरा लगा और पानी को बोला आप कितने निर्दयी हो इन गरीबो के साथ इतना अन्याय क्यों करते हो !

हवा की बात सुनकर समुद्र बोला में कैसा हु कैसा नहीं हु इसका पता लगाने के लिए आप मेरे पास कल आना

अगले दिन समुद्र के किनारे एक बच्चा जोर जोर से ख़ुशी मना रहा था नाच रहा था और बोल रहा था मम्मी मम्मी देखो आज समुद्र ने मुझे एक बॉल दी है ( शायद कचरे में बहकर एक बोल उस बच्चे को हाथ लगी ) और वो बार बार समुद्र को धन्यवाद बोल रहा था

कुछ ही दूरी पर एक मछुआरा अपने घुटनो के बल बैठा दोनों हाथो को जोड़कर समुद्र को बोल रहा था हे पालन हारे आज आप ने मेरे उपर इतनी बड़ी रहम की है आपने जो मुझे इतनी सारी मछली जो दी है इनसे मेरे और मेरे परिवार के सारे काम सफल हो जायेंगे ! आपको बार बार धन्यवाद !

हवा ने आगे ऐसा क्या देखा की हवा भी आगे ख़ुशी से गद गद हो गई !

एक मूंग फली बेचने वाली बाई खुशी से फूली नहीं समा रही उसको समुद्र ने एक मोती दिया

यह देख कर हवा को कुछ समज नहीं आ रहा आखिर इस समुद्र को क्या बोला जाये भला या बुरा !

इतने में समुद्र ने मुस्करा कर कहा मेरा काम है रोज तट पर आना और इनका काम है अपने अपने अनुभव से मुझे कुछ बोलना ! क्या में इनकी बात सुनकर अपना काम छोड़ दू !

में किस किस की बात सुनु कल वाले बच्चे की या आज के बच्चे की !

दोस्तों जब भी आप सफलता की ओर आगे बढोगे तो आपकी जिन्दगी के सामने प्रश्न वाचक चिन्ह जरुर लगेगा !

इस कहानी से सीख

में आज आपको जिन्दगी का सबसे कडवा सच बताने जा रहा हु जो लोग आपकी काबिलियत पर प्रश्न चिन्ह लगाते है ! वो अपने आप के अनुभव को दिखाते है ! उनका अनुभव ही ऐसा है !

इससे आपको कोई फर्क नहीं पड़ेगा !

आप आईने हो और आईने ही रहो फ़िक्र वो करेंगे जिनकी शक्ल ख़राब है

हो सकता है कोई आपको ताने दे कोई आपको आपका past याद दिलाएगा कोई आपको नीचा दिखाने की कोशिस करेगा कोई आपको मुश्किले बताएगा ! बहुत से लोग आप पर व्यंग कसेगा !

इसी प्रकार अन गिनत लोगो ने अपने सपनो को दूसरो की वजह से मार दिया है !

दोस्तों लोग गिरगिट की तरह होते है ! आप सफल होते है तो लोग बोलेंगे की हम पहले ही जानते थे की यह सफल जरुर होगा ! पूत के पैर पालने में ही दीख जाते है !

अगर आप असफल होते है तो लोग कहेंगे हम तो जानते थे ! यह इसकी जिन्दगी में कुछ भी नहीं कर पायेगा !

अगर आपके आस पास के लोग आप की काबिलियत आपकी जिन्दगी आपकी ईमानदारी पर प्रश्न चिन्ह लगाते है ! तो उनको आज ही तलाक देदो अगर उनके साथ आपका खून का रिश्ता है !तो उन सभी से बड़ी सलाह लेना बंद कर दीजिये !

आप यहाँ से यह भी पढना ना भूले

तुम मुझसे क्या छुपाओगे बेटा

सफलता का असली मंत्र

पापा क्या आपके पास 50 रुपए है ?

पुरानी कथा आज की हकीकत

बहाना बनाना कैसे छोड़े

Final word

दोस्तों उम्मीद करता हु यह कहानी आपको बहुत पसंद आई आप कोई सुझाव मुझे देना चाहते हो तो प्लीज comment बॉक्स आपका इंतजार कर कर रहा है ! जरुर करे !

life changing Hindi story of samudra or hawa में बस इतना ही | धन्यवाद |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: