new hindi kahani

अकल बादाम नहीं ठोकर खाने से आती है New Hindi Kahani

New Hindi Kahani

मैंने एक बार एक बेवकूफ से सुना कि लड़कियों में कोई बुद्धिमत्ता नहीं है! अरे साहब, लड़कियों में एक बुद्धिमत्ता होती है, लेकिन वे उसे छिपाते हैं और दिखाते हैं कि जब समय आता है, तो हम भी खुश होते थे जब हमने बचपन में चंदा मामा को देखा था लेकिन जब आज समजदार होने पर पता चला की चंदा को सिर्फ बचपन में ही मामा बोला जाता है अकल बादाम खाने से नहीं ठोकर खाने से आती है जानिए एक New Hindi Kahani से

अभी हम एक कहानी से समजते है

यह एक new hindi kahani है >> एक बार जब एक राज्य में एक राजा शासन करता था, तो राजा बहुत शक्तिशाली था

लेकिन प्रजा उनके शाशन काल में बहुत दुखी थी जिसका कारन यह था ! कि उनके पास कोई रोजगार के अवसर नहीं थे, लोग सभी बेरोजगार थे।

पहले के रोजगार के अवसर दूसरे राजा के हमले में छीन लिए गए थे! लोगों ने भूख से मरना शुरू कर दिया, खाने के लिए कुछ भी नहीं बचा था

धीरे-धीरे प्रजा ने राजा के पास जाना शुरू कर दिया और रोजगार की गुहार लगाने लगी ! लेकिन राजा कहाँ सुनने वाले थे!

तो उसी स्थान पर खड़े एक मंत्री ने राजा को एक विचार दिया और कहा, हे राजन, जिस तरह से हमारे हमारे राज्य में भूख और बेरोजगारी से मरने वाली संख्या बहुत बढती जा रही है

इस तरह से हमारा पूरा राज्य खाली हो जाएगा और कोई भी शत्रु हमें कभी भी हरा सकता। हम पर हमला कर सकते हैं हम एक काम करते हैं

जो भी पैसा हमारे पास है वह सब हीरे मोती और पैसे हम इसे किसी भी रोजगार को स्थापित करने में खर्च करते हैं

सभी को इससे रोजगार मिलेगा इससे जनता भी खुश होगी और भूखे भी नहीं मरेंगे

और हम जो भी पैसा हीरे और मोती खर्च करेंगे, हम इसे उसी रोजगार से वापस कमाएंगे, राजा को मंत्री का यह सुझाव अच्छा नहीं लगा लोग निराश हो गए और धीरे-धीरे दरबार छोड़कर अपने घर की ओर जाने लगे।

कुछ दिनों के बाद…………

राजा का मन अकेले ही जंगल में घूमने का करता है और बिना सोचे-समझे राजा लंबे समय के लिए जंगल में घूमने निकल जाता है

और राजा को नहीं पता कि पीछे से क्या होगा और क्या नहीं होगा।

धीरे धीरे राजा घूमते हुए एक एसी जगह तक पहुँचे जहाँ पीने के लिए पानी नहीं था ! राजा को पानी की बहुत प्यास लगने लगी।

जैसे ही राजा जंगल में चारों ओर देखता है लेकिन उसे कहीं भी पानी दिखाई नहीं देता !और राजा घायल होकर जमीन पर गिर जाता है!

थोड़ी देर बाद, राजा को एक झोपड़ी दिखाई देती है फिर राजा सोचने लगता है कि अगर वहाँ झोपड़ी बनाई गई है

तो पानी को भी देखा जाना चाहिए कि राजा ने धीरे से चलना start किया ! और झोपड़ी के पास पंहुचा और जैसे ही राजा झोपड़ी के पास आता है !

और चारों ओर देखता है लेकिन राजा को कोई जल स्रोत नहीं दीखता है ! प्यास इतनी तेज लगी हुयी थी उसने राजा को जमीन पर लेटा दिया ! राजा जमीन पर पड़ा था

अभी ध्यान से समझने की कोशिश करना

राजा की नजर झोपडी में लगे हैंड पंप पर गई ! और जैसे ही राजा ने हैंड पंप देखा राजा के प्राण में जीव आने लगा राजा ने खड़े होकर झोपड़ी में प्रवेश किया !

और यह देखकर राजा के होश उड़ गये की हैंड पंप पूरी तरह से सूखा था ! राजा ने हैण्ड पम्प को खूब चलाया लेकिन पानी आने वाला कहा था

और राजा उसी झोपड़ी में गिर गया ! उस समय राजा की नजर एक बोतल पर पड़ी जो पानी से भरी हुयी थी राजा बोतल को देख रहा था उसमें पानी भर हुआ था और राजा खुश हुआ

राजा पानी की बोतल पीने वाला था !और फिर उसकी नजर बोतल पर लगे कागज पर पड़ी ! जिसमें लिखा था कि कृपया इस पानी को न पिएं, इसका इस्तेमाल हैंडपंप चलाने में करें

आप इस पानी को हैण्डपम्प में डालें फिर हैण्डपम्प से काफी पानी निकल जाएगा आप उसे पी सकते हैं और फिर पानी की बोतल को वापस भर दें

और इसे लटका दें ताकि कोई आकर आपके जैसा पानी भी पी ले। राजा समझ गया था,

लेकिन राजा को एक डर सता रहा था की में इस बोतल को हैण्ड पम्प में डाल भी देता हु ! लेकिन पानी नहीं आया तो क्या होगा !

दूसरी बात यह है ! की में इस बोतल को पी लेता हु तो यह हैण्ड पम्प कभी भी पानी नहीं देगा ! अभी मुझे क्या करना चाहिए राजा कुछ भी नहीं समज पा रहा

फिर राजा ने अंतरात्मा से सोचा

और decision लिया की मुझे पानी की बोतल को हैण्ड पम्प में डाल देना चाहिए ! और राजा ने ऐसा ही किया फिर हैण्ड पम्प को start करके देखा की पानी खूब आ रहा है

राजा ने खूब पानी पिया और बोतल को भरकर वापिश लटका दिया फिर राजा वहा से चलने लगा !

लेकिन राजा थोडा रुका और बोतल पर लिखा की आप जरुर विस्वास करे इस बोतल को हैण्ड पम्प में डाले उसके बाद खूब पानी आएगा

राजा अपनी गलती पर पछतावा करते हुए वहां से चला गया था वह सोचने लगा कि अगर मैंने मंत्री के इशारे पर कुछ पैसा लगाकर नौकरी खोली होती तो मैं उस रोजगार से सारा पैसा सैयद में कमा लेता।

राजा तुरंत अपने राज्य में आया और सभी को रोजगार के लिए प्रोत्साहित किया और कहा कि मैंने जो कुछ भी शीखा है वह ठोकर खाने के बाद ही शीखा है मैं आज से तुम्हें रोजगार दूंगा।

आप यहाँ से यह भी पढना ना भूले
Final word

अकल बादाम खाने से नहीं ठोकर खाने से आती है! इस New Hindi Kahani में हमें सीखने को मिलता है की इन्सान जो भी सीखता है! ठोकर खाने से सीखता है अधिक जानकारी के लिए visit करे www.indiahindinews.in

1 thought on “अकल बादाम नहीं ठोकर खाने से आती है New Hindi Kahani”

  1. Pingback: रहीस अरबपति वारेन बफे की सफलता के 9 टिप्स आप भी जरुर... - Mekhraj Bairwa

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: