चिड़िया का प्राकृतिक संघर्ष Nature Motivational story in Hindi

Nature Motivational story in Hindi

Nature Motivational story in Hindi for success

यह कहानी है एक collage के लैब की ! जहाँ एक teacher अपने सभी student को law of Nature की practical जानकारी देने के लिए लेके गये थे ! इस प्रोजेक्ट में सभी student ने उत्सकता से भाग लिया ! उस लैब में teacher ने चिड़िया के 2 अंडे रखे थे जिनसे कुछ समय में बच्चे निकलने वाले थे !

अभी सभी student के लिए सिर्फ इतना बोला था की आप इन अंडो को बारीकी से देखते रहिये और महसूस कीजिये की किस तरह और कितनी कोशिश के बाद चिड़िया के बच्चे इस अंडे से बहार निकलते है ! और यह सारी गतिविधि teacher कंप्यूटर पर देख रहे थे !

देखते ही देखते अंडे में थोड़ी दरारे चली और चिड़िया के बच्चे थोडा थोडा दीखने लगे ! लेकिन अंडे से बहार निकलने के लिए चिड़िया के बच्चे अंडे की दीवार को नहीं तोड़ पा रहे ! बार बार कोशिश कर रहे है अपने पंखो को फैला रहे है पैरो को चला रहे है ! लेकिन फिर भी चिड़िया के बच्चे उस अंडे से नहीं निकल पा रहे है !

यह सारी की सारी गतिविधिया पूरा teacher स्टाफ कंप्यूटर स्क्रीन पर देख रहा था !

स्टूडेंट की दया और चिड़िया के बच्चे का जीवन ख़राब

जब चिड़िया का बच्चा काफी कोशिश करने के बाद अंडे से बहार नहीं निकल पा रहा था ! तभी पास खड़े हुए एक विधार्थी को दया आती है ! उसने अंडे को धीरे से पैन मारा ताकि अंडा टूट सके और चिड़िया के बच्चा बहार आ सके ! और ऐसा ही हुआ !

चिड़िया का बच्चा बहार तो आ गया लेकिन उसके पंख बहुत कमजोर थे वह आसमान में उड़ नहीं पाया और थोड़ी कोशिश करने के बाद जमीन पर गिर गया और मर गया !

यह सारी एक्टिविटी देखने के बाद teacher लैब में आता है और चिड़िया के बच्चे को किसने मारा को लेकर सवाल करता है ! पास खड़ा हुआ लड़का कुछ बोल नहीं पा रहा ! teacher समझ गया बोला कोई बात नहीं !

अभी कुछ समय दुसरे अंडे को देखा जाये की यह बच्चा कैसे बहार निकलता है इसकी कोई help नहीं करेगा !

संघर्ष ही जीवन है Struggle is life

अभी सभी की नजर चिड़िया के दुसरे अंडे पर है जिसमे बच्चा बार बार कोशिश के उपर कोशिश किये जा रहा है बहार निकलने की बार बार अपने पंखो को फड फडा रहा है पैरो को मार रहा है !

एक समय ऐसा आया की कोशिश करने के बाद चिड़िया का बच्चा अंडे से बहार आया और बहार आने के तुरंत बाद आसमान में उड़ गया ! सभी बहुत खुश हुए !

law of Nature

अभी teacher सभी बच्चो को law of Nature सिखाते हुए बोलते है ! संघर्ष प्रक्रति का नियम है ! जब कोई भी जीव या इन्सान संघर्ष करता है तो वह अंदर से बहुत मजबूत होता है उसके छिपे हुए गुण बहार आते है !

जैसे की पहले वाला बच्चा आसानी से बहार आगया जिससे की उसमे बहार के माहोल में जीने के गुणों का विकास नहीं हुआ ! जबकि दूसरे बच्चे ने अपने आप को इतना कठोर बना लिया ताकि वो बहार के माहोल में आसानी से जी सके !

किसी भी इन्सान की इतनी भी मदद ना करे की वो अपने अंदर के सभी positive गुणों को भूल जाये !

जिन्दगी जीना आसान नहीं होता !
बिना संघर्ष के कोई महान नहीं होता !
और जब तक ना पड़े हथोड़े की चोट
पत्थर भी भगवान नहीं होता !

सीख

यह कहानी हमे सिखाती है की आपका शुरूआती संघर्ष आपके जीवन भर काम आएगा और जितना आप संघर्ष करोगे उतना ही आप अंदर से मजबूत बनोगे और आपके छिपे हुए गुण भी बहार आयेंगे ! संघर्ष प्रक्रति का वरदान है यह आपको करना ही पड़ेगा !

Nature Motivational story in Hindi में यह कहानी आपको कैसे लगी प्लीज हमे comment में जरुर बताये और आपके दोस्त और परिवार में इस motivational short story in hindi को जरुर share करे !

Read More Motivational Story In Hindi :

Mekhraj2001

Mekhraj Bairwa is a very good motivational speaker and writer blogger you tuber skill development india hindi news today news aaj ki taja khabar news hindi me breaking news digital services personalty development today history hindi kahani new kahaniya

Leave a Reply