Hindi story of success

निरंतर अभ्यास ही सफलता की कुंजी है Hindi story of success

Hindi story of success

निरंतर अभ्यास ही सफलता की कुंजी है Hindi story of success

अभ्यास का अर्थ होता है :- एक ही काम को बार बार करना और तब तक करना की आप उस काम के मास्टर ना बन जाये उसे ही अभ्यास कहते है !

आपने यह दोहा तो जरुर सुना ही होगा !

करत करत अभ्यास के जड़ मत होत सुजान ! रस्सी आवत जात से सल पर पड़े निशान

अगर कोई इन्सान किसी भी कार्य को लगातार करता है तो वह उस कार्य का निपुण माना जाता है ! जैसे एक पत्थर पर अगर रस्सी आती जाती रहती है तो उस पत्थर पर रस्सी का अलग ही निशान बन जाता है !

भागवत गीता में अर्जुन कहते है की भोजन करते समय अगर जलता हुआ दीपक बंद हो जाता है ! फिर भी हाथ रोटी के गस्सा को मुह तक ले जाता है ! इसके लिए किसी भी प्रकाश की जरूरत नहीं है ! यह इसलिए होता है की उस हाथ को इस काम का मतलब भोजन करने का अभ्यास है !

अभ्यास हमेशा सांसारिक क्रिया से लेकर आध्यात्मिक क्रिया तक मानसिक क्रिया से लेकर शारीरक क्रिया तक जीवन में सफलता की अहम चाबी है !

अभ्याश एक छोटा से छोटा भी हो सकता है ! अभ्याश बड़ा से बड़ा भी हो सकता है !

1983 के वर्ड्कप विजेता कप्तान कपिल देव जी हमेशा एक बात बोलते है ! 4 बजे उठने का time नहीं है 4 बजे तो मैदान में पहुचकर अभ्याश करने का time है !

आज जितने भी सफल व्यक्ति है ! चाहे वो सफलता के किसी भी क्षेत्र में हो उन सभी का कारन अभ्याश ही है !

घोड़े के अभ्यास का Result

एक घुड़सवार अपने घोड़े को लेकर जा रहा है ! चलते चलते रास्ते में एक गड्डा आता है ! जैसे ही घुड़सवार ने गड्डे को देखा और जोर से बोला जम्प तो घोड़े ने जम्प लगया !

थोड़ी आगे चला फिर से एक गड्डा आया घुड़सवार ने बोला जम्प तो घोड़े ने लगाया जम्प !

अभी थोड़ी आगे ही निकले की फिर से एक गड्डा आया और घुड़सवार ने बोला जम्प तो घोड़े ने जम्प लगाया !

अभी चलते चलते घुड़सवार को नींद आ गयी और सामने आया गड्डा इस बार घुड़सवार ने नहीं बोला जम्प फिर भी घोड़े ने लगाया जम्प !

क्योकि अब घोड़े को अभ्यास हो चूका है ! वह जान चूका है ! की गड्डा आने पर मुझे जम्प ही मारना है !

मेरी सफलता का एक मात्र सूत्र है अभ्यास

मैंने जब इस website यानि mekhrajbairwa.com पर लिखना शुरू किया उससे कुछ दिन बाद मुझे लिखने में आलस्य आने लगा !

लेकिन उसके बावजूद में लगातार लिखता रहा लिखता रहा ! रात दिन अभ्यास करता रहा !

आज में एक सफल blogger बन गया ! अगर मैंने बुरे वक्त में अभ्यास नहीं किया होता है तो आज मै भी सफल लोगो में नहीं गिना जाता !

थॉमस एडिसन का अभ्यास

आप ने थॉमस एडिसन का नाम तो जरुर सुना ही होगा ! इतिहास बताता है की जब थॉमस एडिसन बल्ब बनाने की रात दिन मेहनत कर रहे थे !

करते करते वो 9999 बार फेल हो चुके थे ! लेकिन अभ्याश फिर भी जारी था

जिसका परिणाम यह हुआ की आखिर थॉमस एडिसन ने बल्ब को बना ही दिया

Hindi story with moral

इस Article में हमने कोशिश की अभ्यास के परिणाम दिखाने की उम्मीद करता हु आपको बहुत पंसद आया !

आप यहाँ से यह भी पढना ना भूले

सकारात्मक सोच का परिणाम

बड़ी दुआओं से पाया है बेटा तुझे

अपने कर्म पर विश्वास करो राशियों पर नहीं 

एकलव्य से सीखे गुरुभक्ति

क्रोध पर कंट्रोल करे

Final word

उम्मीद करता हु आपको यह लेख आपको बहुत पसंद आया

अगर आप भी कोई कहानी अपने नाम और फोटो के साथ यहाँ पर पब्लिश करना चाहते है तो हमें mekhrajbairwa@gmail.com पर अपना नाम फोटो और कहानी भेजे हम पब्लिश करेगे !

निरंतर अभ्यास ही सफलता की कुंजी है Hindi story of success में बस इतना ही | धन्यवाद |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: