motivational story in hindi Friend

सच्चा मित्र कोन होता है Motivational Story in Hindi Friend

सच्चा मित्र कोन होता है Motivational Story in Hindi Friend

साथियों आज की कहानी एक सच्ची मित्रता को दर्शाती है ! इस कहानी का टाइटल है Motivational Story in Hindi Friend और शीर्षक है ! सच्चा मित्र कोन होता है ! यह कहानी एक सच्चे मित्र की परिभासा को बखूबी दर्शाती है ! साथियों जिन्दगी में दोस्त बहुत मिलते है लेकिन आपके जैसे सच्चे दोस्त बहुत कम मिलते है ! क्योकि सच्ची मित्रता आईने की तरह होती है सही गलत बताकर इन्सान को सही दिशा निर्देश देती है

साथियों जो दोस्त पानी की भरी बाल्टी में से दो बूंद आंसुओ को पहचान ले ! उससे अच्छा मित्र कोई और नहीं हो सकता

जानिए कैसा होता है सच्चा मित्र

दो मित्र थे उनमे से एक मित्र ने अपने राज्य के राजा द्वारा किये जा रहे बार बार अपराध को रोकने के लिए आवाज उठाई

लेकिन जैसे ही इस बात का पता राजा को लगा की मेरे खिलाप इस लड़के ने कोई आवाज उठाई है

तुरंत राजा ने अपनी बेरहमी को बिना नजर अंदाज किये उस एक मित्र को फांसी की सजा सुनाई

राजा की बात को कोई टालने वाला नहीं था

लेकिन उस मित्र ने एक मोहलत मांगी और बोला

हे राजन आप जो भी हुकम दे रहे हो मुझे मंजूर है ! लेकिन मुझे कुछ समय दिया जाये ताकि में घर जाकर अपने बच्चो से मिलकर वापिश आ सकू

राजा को विस्वास नहीं था

लेकिन पास खड़े मित्र ने अपनी सच्ची मित्रता का परिचय देते हुए बोले राजन में इनकी जमानत देता हु

अगर यह आपके बताये गये समय के अनुसार नहीं आते है तो मुझे फांसी पर चढ़ा देना

राजा ने बात मानी और उसे 6 घंटे के लिए घर भेज दिया

यहाँ से कहानी में बदलाव आता है

जब वह मित्र अपने बच्चो से मिलकर लोट रहा था ! की अचानक जिस घोड़े से वह घर गया था वह गिर गया

और गिरने के बाद वह वापिश दुबारा खड़ा नहीं हुआ

हुआ यह की वह बताये समय अनुसार फांसी घर पर नहीं पंहुचा ! इसलिए उसके दोस्त को फांसी के फंदे पर लटकाया जा रहा था

उसके दोस्त को फांसी मिलने वाली ही थी की इतने में वह पहुच गया और अपने दोस्त से बोला अब तुम हटो और मुझे विदा करो

दोस्त बोला आपका time निकल गया अब मुझे ही फांसी के फंदे पर झूलने दो

यह वार्ता लाप राजा देख रहा था

और जल्लाद को हुकम सुनाया की इनमे से किसी को फांसी नहीं दी जाये

क्योकि मैंने ऐसे दोस्त अपनी जिन्दगी में नहीं देखे जो अपने दोस्त की खातिर अपने प्राण देने को तैयार हो

क्या शीख मिलती है

एक सच्चा दोस्त वही होता है जो अपनी जिन्दगी की परवाह नहीं करके दोस्त के लिए जान गंवा दे सैलूट है ऐसे दोस्त को

असली मर्द की पहचान

Final Word

साथियों इस कहानी में एक सच्चे मित्र की मित्रता का वर्णन किया है आशा करता हु बहुत अच्छी लगी साथियों कोई सुझाव आप मुझे देना चाहते है तो प्लीज comment box में जाकर जरुर दे अधिक जानकारी के लिए visit करे www.indiahindinews.in

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: