Self-reliant India scheme

आत्मनिर्भर भारत योजना 2020 क्या है Self-reliant India scheme

Self-reliant India scheme

आत्मनिर्भर भारत योजना क्या है Self-reliant India scheme

भारत के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी जी का मानना है की हम भारत को पूर्ण रूप से आत्मनिर्भर बना सकते है ! और बनाकर रहेंगे यह हमारा सपना है ! इस सपने को पूरा करना हमारा धर्म है ! 21 वी सदी भारत के नाम रहेगी इसकी पूरा विश्व चर्चा कर रहा है ! कुछ इस प्रकार के बोल थे आज शाम 8 बजे के संबोधन में मोदी जी के !

20 लाख करोड़ का पैकेज 

नए संकल्प के साथ हम विशेष आर्थिक पैकेज आत्मनिर्भर भारत अभियान की एक कड़ी के रूप में काम करेंगे ! 20 लाख करोड़ रुपये का कुल पैकेज भारत की जीडीपी का 10 प्रतिशत है !

20 लाख करोड़ का पैकेज मिलेगा। 2020 में देश में विकास की यात्रा को आत्मनिर्भर भारत के लिए वर्ष 2020 में एक नया प्रोत्साहन मिलेगा !

भूमि श्रम तरलता यह आर्थिक पैकेज देश के उस मजदूर के लिए उस किसान के लिए तथा मध्यम वर्ग को मजबूत करेगा !

कल इस योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी !

कोरोना से लड़ रहे भारतीय लोगो की प्रसंसा

पीएम मोदी ने कहा दुनिया में जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ते हुए भारत की दवाएं एक नई उम्मीद तक ​​पहुंचती हैं ! इन कदमों के साथ, दुनिया भर में भारत की प्रशंसा की जाती है इसलिए प्रत्येक भारतीय गर्व करता है !

पीएम मोदी ने कहा, ग्लोबल वार्मिंग के खिलाफ इंटरनेशनल सोलर अलायंस भारत का तोहफा है। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की पहल मानव जीवन से तनाव दूर करने के लिए भारत का उपहार है !

पीएम मोदी ने कहा भारत की प्रगति में हमेशा दुनिया की प्रगति रही है ! भारत के लक्ष्य प्रभावित होते हैं, भारत के कार्य विश्व कल्याण को प्रभावित करते हैं !

भारतीय पीएम मोदी ने कहा वह संस्कृति जो धरती को मां के रूप में मानती है ! वह भारतभूमि जब वह आत्मनिर्भर हो जाती है ! तो एक खुशहाल और समृद्ध दुनिया की संभावना भी सुनिश्चित करती है !

पीएम मोदी ने कहा N-95 मास्क भारत में मामूली स्तर पर तैयार किए गए थे ! आज स्थिति यह है !कि भारत में हर दिन 2 लाख पीपीई और 2 लाख एन -95 मास्क बनाए जा रहे हैं !

Final word Self-reliant india campaign

पीएम मोदी ने कहा विश्व की आज की स्थिति हमें सिखाती है कि इसका मार्ग एक ही है- “ आत्मनिर्भर भारत ”

Self-reliant India scheme 12 may 2020 में बस इतना ही | धन्यवाद |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: